Politics

अशोक गहलोत बोले- कन्हैयालाल के हत्यारे को छुड़वाने के लिए BJP नेताओं ने फोन किया था

20220712 222824 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

उदयपुर में कन्हैयालाल की हत्या मामले में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाए हैं. सीएम गहलोत ने बिना किसी का नाम लिए बताया कि बीजेपी नेता हत्यारे को छुड़ाना चाहते थे. 28 जून को उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल की गला रेतकर हत्या कर दी गई थी. हत्या के दो आरोपी मोहम्मद रियाज और गौस मोहम्मद को उसी दिन गिरफ्तार किया गया था. अब मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि जब एक अन्य मामले में पुलिस ने कन्हैयालाल के हत्यारे रियाज़ को गिरफ्तार किया था तो उसको छुड़वाने के लिए बीजेपी नेताओं ने फोन किया था.

सीएम अशोक गहलोत 11 जुलाई को जयपुर में राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे थे. आजतक से जुड़े शरत कुमार की रिपोर्ट के मुताबिक इसके बाद उन्होंने रिपोर्ट्स से बातचीत में उदयपुर केस के आरोपियों के बीजेपी से संबंधों को लेकर दावा किया.

ये भी पढ़ें -: योगी के बयान पर बोले नकवी- जनसंख्या विस्फोट किसी मजहब की नहीं, इसे जाति और धर्म से…

सीएम ने कहा, वैसे तो आप लोगों ने और सोशल मीडिया ने वैसे ही कह दिया है कि अभियुक्तों के किनके साथ संबंध हैं. बीजेपी के साथ किस रूप में, किस लेवल के संबंध रहे हैं सबको मालूम है. रोज कुछ न कुछ खबरें आती रहती हैं. बाद में खुलासा हुआ कि आरोपी बीजेपी के सक्रिय सदस्य हैं.

अशोक गहलोत ने आगे कहा कि अभी हाल में खबर आई कि रियाज़ को लेकर खबर आई कि उसका जो मकान मालिक था उसने शिकायत की थी कि रियाज़ उसे तंग करता था. उन्होंने कहा, शिकायत में मकान मालिक ने कहा था कि पता नहीं कौन-कौन लोग घर पर आते हैं, धमकाते हैं और किराया नहीं देते. मकान मालिक से हाथापाई के चक्कर में एक बार रियाज़ को पुलिस ने हिरासत में ले लिया था. पुलिस कार्रवाई करती उससे पहले ही थाने के अंदर बीजेपी नेताओं के फोन चले गए कि भाई यह हमारा कार्यकर्ता है इसको तंग मत करो.

ये भी पढ़ें -: राष्ट्रपति चुनाव के लिए शिवसेना का बड़ा फैसला! इस उम्मीदवार को समर्थन देगी पार्टी

सीएम ने कहा कि बीजेपी को आरोपियों के साथ पार्टी के संबंध पर अपना रुख स्पष्ट करना चाहिए. उधर, कांग्रेस ने हत्यारों के बीजेपी कार्यकर्ता होने को लेकर उदयपुर में पोस्टर भी लगाए हैं. इससे पहले सोशल मीडिया पर मोहम्मद रियाज की कई बीजेपी नेताओं के साथ तस्वीरें सामने आई थी. एक तस्वीर बीजेपी नेता और विपक्ष के नेता गुलाब चंद कटारिया के साथ भी वायरल हुई थी.

रियाज के बीजेपी कार्यकर्ता होने पर पार्टी पहले ही खंडन कर चुकी है. राजस्थान बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा के कार्यकर्ता इरशाद चेनवाला ने इंडिया टुडे से कहा था कि रियाज बीजेपी के कार्यक्रमों में शामिल होता था. वह बिना बुलाए आता था. वो पार्टी के लिए काम करना चाहता था. हालांकि उसका पार्टी से कोई लेना देना नहीं है.

ये भी पढ़ें -: ज्ञानवापी मामले पर हिन्दू पक्ष में पड़ी फूट, इस वकील पर लगा बड़ा आरोप…

ये भी पढ़ें -: कन्हैयालाल के दोनों बेटों को मिली सरकारी नौकरी, जानें किस पद पर करेंगे काम


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-