अर्जुन के शतक पर भावुक हुए सचिन तेंदुलकर, बोले- एक क्रिकेटर का बेटा होने के नाते उसके लिए…

अर्जुन के शतक पर भावुक हुए सचिन तेंदुलकर, बोले- एक क्रिकेटर का बेटा होने के नाते उसके लिए…
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

क्रिकेट जगत के महान दिग्गज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) के बेटे अर्जुन तेंदुलकर (Arjun Tendulkar) रणजी ट्रॉफी में शतक लगाने के बाद से सुर्खियों में छाए हुए हैं। उनके इस शतक की चारों तरफ खूब वाह – वाही हो रही है। अब अर्जुन के शतक पर उनके पिता सचिन का रिएक्शन सामने आया हैं।

बता दें कि अर्जुन ने गोवा की तरफ से खेलते हुए अपने डेब्यू मैच में ही शतक जड़ दिया था। इस दौरान उन्होंने 207 गेंदों में 16 चौके और 2 छक्कों की मदद से 120 रनों की शतकीय पारी खेली। अर्जुन की यह पारी को देखने के बाद पिता सचिन बेहद खुश हैं।

दरअसल एक इंवेट में अर्जुन (Arjun Tendulkar) के शतक पर बात करते हुए सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने कहा कि – उसका बचपन सामान्य नहीं रहा है। एक क्रिकेटर का बेटा होने के नाते, जो काफी समय से है, यह इतना आसान नहीं है और यही एकमात्र कारण है जब मैंने संन्यास लिया और मुंबई में मीडिया द्वारा सुविधा प्रदान की गई, तो मेरा उन्हें संदेश था,

ये भी पढ़ें -: BJP सांसद निरहुआ बोले- जिस दिन अहीर रेजिमेंट का गठन होगा, चीन की रूह काप जाएगी

अर्जुन को क्रिकेट से प्यार करने दो, उसे वह मौका दो। प्रदर्शन करने के बाद आप अलग-अलग स्टेटमेंट्स देख सकते हैं। उस पर दबाव मत बनाओ क्योंकि मुझ पर कभी मेरे माता-पिता का दबाव नहीं था।

सचिन ने इस बारे में आगे बात करते हुए कहा कि – मेरे माता-पिता ने मुझे बाहर जाने दिया और खुद को व्यक्त करने की स्वतंत्रता दी, उम्मीदों का कोई दबाव नहीं था। यह केवल प्रोत्साहन और समर्थन था और हम कैसे जा सकते थे और खुद को बेहतर बना सकते थे और यही मैं चाहता था कि वह करे। मैं उसे बताता रहता हूं कि यह उसके लिए चुनौतियों से भरपूर होने वाला है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अर्जुन (Arjun Tendulkar) ने रणजी ट्रॉफी के फर्स्ट क्लास के डेब्यू मैच में पिता सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) की तरह ही खेलते हुए शतक लगाया। सचिन ने भी फर्स्ट क्लास के डेब्यू मैच में गजुरात के खिलाफ ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए गुजरात के खिलाफ शतक लगाया था। उन्होंने साल 1988 में डेब्यू किया था। वहीं, अब अर्जुन ने अपने पिता के नक्शे कदम पर चलते हुए 34 साल बाद यह कारनामा किया है। उनके इस शतक को देखकर टीम इंडिया के विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक ने भी उनकी तारीफ की थी।

ये भी पढ़ें -: गुजरात में 45 हिंदुओं ने अपनाया बौद्ध धर्म, कलेक्टर बोले- जांच कराएंगे

ये भी पढ़ें -: शिष्या से रे’प मामले में पूर्व गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद भगोड़ा घोषित, जारी हुवा गैर जमानती वारंट


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-