Politics

अधीर रंजन चौधरी के बयानों ने पहले भी पैदा किया है विवाद, गंदी नाली से की थी नरेंद्र मोदी की तुलना

20220729 131256 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

देश की पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के लिए राष्ट्रपत्नी शब्द का इस्तेमाल कर कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी बुरी तरह फंस चुके हैं। भाजपा इस मुद्दे पर कांग्रेस को सड़क से लेकर संसद तक घेर रही है। राष्ट्रीय महिला आयोग ने रंजन के बयान की निंदा करते हुए उन्हें नोटिस भेज 3 अगस्त को सफाई देने के लिए बुलाया है। कांग्रेस पार्टी की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी रंजन के खिलाफ एक्शन की मांग की जा रही है।

हालांकि यह कोई पहला मौका नहीं है जब अधीर रंजन चौधरी के बयानों से विवाद पैदा हुआ हो। विवादित बयानों से रंजन का पुराना नाता रहा है। आइए जानते हैं इस कांग्रेस नेता के कुछ सबसे विवादित बयानों को…

ये भी पढ़ें -: एक ही सिरिंज से 30 छात्रों को लगाया टिका, छात्रा के पिता ने ऐसे पकड़ा, लोग बोले- मामा चल क्या रहा है ये?

साल 2019 में ओडिशा से सांसद प्रताप चंद्र सारंगी ने प्रधानमंत्री मोदी तुलना नरेंद्र मोदी से की थी। कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने इस पर सवाल उठाते हुए कहा था स्वामी विवेकानंद (नरेंद्र नाथ दत्ता) से प्रधानमंत्री मोदी की तुलना गलत है क्योंकि सिर्फ नाम नरेंद्र होने से समानता नहीं हो सकती। रंजन अपनी बात रख ही रहे थे, तभी सत्ता पक्ष के किसी नेता ने कहा कम से कम हमने ‘इंदिरा इज इंडिया, इंडिया इज इंदिरा’ की हद तक तो नहीं गए। इसके बाद अधीर रंजन ने विवादित बयान देते हुए कहा, ‘कहां मां गंगा और कहां गंदी नाली।’ हालांकि सदन के बाहर निकलकर रंजन अपनी बात से पलट गए। उन्होंने कहा- मैंने गंदी नाली नहीं सिर्फ नाली कहा। अगर इससे प्रधानमंत्री को दुख होता है, मैं माफी मांग लेता हूं।

अगस्त 2019 में सदन में जम्मू-कश्मीर राज्य पुनर्गठन विधेयक पर बहस हो रही थी। कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी ने विधेयक पर सवाल उठाते हुए कहा, केंद्र सरकार ने रातो-रात नियम कायदों को ताक पर रखकर जम्मू कश्मीर के टुकड़े कर दिए।

ये भी पढ़ें -: शाही ठाटबाट के साथ क्लास रूम में बच्चे से हाथ दबवा रही थी टीचर, हुवी सस्पेंड

अमित शाह ने पूछा अधीर रंजन चौधरी स्पष्ट करें कि सरकार ने कौन सा नियम तोड़ा है। जवाब में अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि, ”आपने अभी कहा कि कश्मीर अंदरूनी मामला है, लेकिन 1948 से UN अभी भी मॉनिटरिंग करता आ रहा है।” चौधरी के इस बयान से कांग्रेस की खूब किरकिरी हुई थी। साथ ही कश्मीर को लेकर कांग्रेस के स्टैंड पर भी सवाल उठा था। अमित शाह ने पूछा था कि क्या कांग्रेस मानती है UN जम्मू कश्मीर की मॉनिटरिंग करता है?

दिसंबर 2019 में अधीर रंजन चौधरी ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए नरेंद्र मोदी और अमित शाह को घुसपैठिया कहा था। नागरिकता संशोधन बिल पर बात करते हुए उन्होंने कहा था, ”मैं कह सकता हूं कि नरेंद्र मोदी और अमित शाह भी खुद घुसपैठिए हैं। उनका घर गुजरात में है लेकिन वें दिल्ली आ गए हैं।” रंजन के इस बयान पर सदन में जमकर हंगामा हुआ था।

ये भी पढ़ें -: संसद में भयानक बहस, सोनिया गांधी ने स्मृति ईरानी से कह दी ये बात…

ये भी पढ़ें -: 8 साल में 22 करोड़ ने मांगी सरकारी नौकरी, मिली महज 7 लाख 22 हजार को


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-