अडानी ग्रुप की कंपनियों के शेयरों मैं भारी गिरावट, 4 दिनों में डूबे 1.70 लाख करोड़

अडानी ग्रुप की कंपनियों के शेयरों मैं भारी गिरावट, 4 दिनों में डूबे 1.70 लाख करोड़
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

बीते सप्ताह भारी बिकवाली की वजह से शेयर मार्केट (Share Market) में बड़ी गिरावट देखने को मिली. टूटते मार्केट के बीच अडानी ग्रुप (Adani Group) की लिस्टेड सात कंपनियों के शेयरों में भी बड़ी गिरावट देखने को मिली. अडानी ग्रुप की कंपनियों के शेयरों ने चार दिनों की बिकवाली के बीच ऐसा गोता लगाया कि 1.70 लाख करोड़ रुपये स्वाहा हो गए.

अडानी ग्रुप की कंपनियों के मार्केट कैप (Mcap) में संयुक्त रूप से 1.70 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. अडानी विल्मर (Adani Wilmar), अडानी पावर (Adani Power) और अडानी ट्रांसमिशन (Adani Transmissionn) के शेयरों में भारी गिरावट दर्ज की गई.

अडानी विल्मर के शेयर शुक्रवार को सात फीसदी से अधिक गिरकर 512.65 रुपये पर आ गए थे. इसके साथ ही कंपनी के शेयर चार दिन में 18.53 टूटे. इस बीच चार दिन की गिरावट के दौरान बीएसई सेंसेक्स में 1,630 अंक या 2.65 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई. अडानी पावर के शेयरों में शुक्रवार को लोअर सर्किट लग गया था. शुक्रवार को अडानी पवार का स्टॉक पांच फीसदी की गिरावट के साथ 262.20 रुपये पर बंद हुआ था. 19 दिसंबर से 23 दिसंबर के बीच आई गिरावट में ये स्टॉक 14.23 फीसदी टूटा है.

ये भी पढ़ें -: कॉलेज की छात्रा को धमकाते हुवे बोला ट्रैफिक पुलिसकर्मी- दोस्ती करो या 10 हजार का चालान कटाओ…

अडानी ट्रांसमिशन का शेयर बीएसई पर 9.29 फीसदी की गिरावट के साथ 2,284 रुपये पर क्लोज हुआ था. शुक्रवार तक के चार सत्रों में यह शेयर 13 फीसदी से अधिक टूटा है. अडानी एंटरप्राइजेज 5.65 फीसदी की गिरावट के साथ 3,650 रुपये पर क्लोज हुआ. पिछले चार सत्रों में यह शेयर 8.51 फीसदी गिरा है. पिछले चार सेशन में अडानी ग्रीन एनर्जी और अडानी पोर्ट्स और स्पेशल इकोनॉमिक जोन में करीब 8-9 फीसदी की गिरावट आई है. अडानी टोटल गैस के शेयर भी पिछले चार सेशन में 8 फीसदी से अधिक टूटा है.

सात अडानी समूह की कंपनियों के शेयरों का कॉम्बाइंड एम-कैप 17.04 लाख करोड़ रुपये रहा, जो 19 दिसंबर के 18.81 लाख करोड़ रुपये से 9.41 प्रतिशत कम था. इसमें से प्रमुख अडानी एंटरप्राइजेज को एम-कैप में लगभग 40,000 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. इसके बाद नुकसान के मामले में अडानी ट्रांसमिशन (एम-कैप लॉस 36,521.23 करोड़ रुपये), अडानी टोटल गैस (27,533.75 करोड़ रुपये) अडानी ग्रीन एनर्जी (24,528.75 करोड़ रुपये) के शेयर रहे .

हालांकि, इस गिरावट के बावजूद अडानी एंटरप्राइजेज के शेयर साल का अंत 115 फीसदी बढ़त (2022 में अब तक) के साथ कर रहे हैं. अडानी विल्मर (92 फीसदी ऊपर), अडानी टोटल गैस (90 फीसदी ऊपर), अडानी ग्रीन (39 फीसदी ऊपर), अडानी ट्रांसमिशन (36 फीसदी ऊपर) और अडानी पोर्ट्स (9 फीसदी ऊपर) एक मजबूत नोट पर कैलेंडर को खत्म कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें -: दमोह में 250 लोगों ने अपनाया हिंदू धर्म, जानें पूरा मामला…

ये भी पढ़ें -: रविचंद्रन अश्विन ने ताबड़तोड़ बैटिंग कर बांग्लादेश से ऐसे छीनी जीत, बना डाले रिकॉर्ड


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-