Entertainment

अचानक बदल गए विवेक अग्निहोत्री के सुर, जावेद अख्तर की तारीफों के क्यों बांधने लगे पुल?

20220905 190152 min
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ की बेतहाशा सफलता के बाद फिल्म निर्देशक विवेक अग्निहोत्री अक्सर किसी न किसी वजह से सुर्खियों में रहते हैं। वह अपनी बेबाक बयानी के लिए भी जाने जाते हैं। अक्सर सोशल मीडिया पर किसी न किसी मुद्दे पर अपनी राय देते नजर आते हैं। वह इंडस्ट्री के दूसरे कलाकारों पर तंज कसने में भी माहिर हैं। हालांकि, अब अचानक से विवेक अग्निहोत्री के सुर बदल से गए हैं। हाल ही में वह जावेद अख्तर की तारीफों के पुल बांधते नजर आए।

हाल ही में एक मीडिया बातचीत के दौरान विवेक अग्निहोत्री ने शुद्ध हिंदी में गाने लिखने के लिए जावेद अख्तर की दिल खोलकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि आमिर खान स्टारर फिल्म ‘लगान’ के लिए जावेद अख्तर ने शुद्ध हिंदी में गाने लिखे। उन्होंने आगे कहा, ‘यहां तक कि जावेद अख्तर जैसे शख्स ने जिन्होंने ‘लगान’ के लिए भजन लिखे थे, वह बिल्कुल शुद्ध हिंदी में थे।

ये भी पढ़ें -: बीच रास्ते में खराब हो गई सीएम योगी आदित्यनाथ की गाड़ी, अफसरों के छूटे पसीने

उन्होंने कहा कि ‘मधुबन में राधा…’ में एक भी शब्द उर्दू का नहीं था, क्योंकि ये लोग पढ़े-लिखे, बुद्धिमान लोग हैं। वह भारतीय जड़ों से जुड़े हुए हैं। जावेद अख्तर के बारे में बात करते हुए विवेक अग्निहोत्री ने आगे कहा, ‘वह भले ही एक कम्युनिस्ट हों, दक्षिण पंथ के खिलाफ लड़ते हों, लेकिन इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता।’ बातचीत के दौरान विवेक अग्निहोत्री ने उन फिल्मी किरदारों की भी खूब तारीफ की, जो जावेद अख्तर ने अस्सी-नब्बे के दशक में गढ़े।

विवेक अग्निहोत्री ने कहा कि जावेद अख्तर का हीरो या तो एक मजदूर का या एक शिक्षक का बेटा होता था और वह किसी डकैत, मिल मालिक, जमींदार से या फिर किसी भ्रष्ट पुलिस निरीक्षक-विधायक से अपने हक के लिए लड़ता था। मगर आज के दौर में कहां ये सब देखने को मिलता है।

ये भी पढ़ें -: ‘राशन की दुकानों पर PM मोदी की फोटो लगाओ’, वित्त मंत्री के बयान पर TRS ने सिलेंडर पर तस्वीर चिपकाई

विवेक अग्निहोत्री ने जावेद अख्तर की तो खूब तारीफ की, लेकिन वह रणबीर कपूर की आगामी फिल्म ‘ब्राह्मास्त्र’ पर निशाना साधने से नहीं चूके। उन्होंने कहा, ‘क्या वह ‘ब्रह्मास्त्र’ शब्द का अर्थ भी जानते हैं? और फिर वह अस्त्र वर्स की बात करते हैं, वह भी क्या है?

फिर आप अपने निर्देशक को इस फिल्म का प्रमोशन करने भेज देते हैं, जो ठीक तरह से ‘ब्रह्मास्त्र’ शब्द का उच्चारण भी नहीं कर पाते हैं। विवेक यहीं नहीं रुके, उन्होंने करण जौहर पर भी तंज कसा। उन्होंने कहा, वह एलजीबीटीक्यू कम्युनिटी के बारे में बात करते हैं, लेकिन वह खुद इसका मजाक उड़ाते हैं।

ये भी पढ़ें -: कंगना रनौत ने महेश भट्ट को लेकर किया खुलासा, बोली- असली नाम ‘असलम’ है औऱ…

ये भी पढ़ें -: नीतीश कुमार बोले- BJP के साथ दोबारा जाना हमारी मूर्खता थी, ग़लती हुवी

ये भी पढ़ें -: MP के पोषण आहार घोटाला में ‘चारा घोटाले’ जैसी ही गड़बड़ी, पर गृहमंत्री बोल रहे CAG की रिपोर्ट अंतिम सत्य नहीं


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-