अक्षय कुमार के विज्ञापन पर दहेज को बढ़ावा देने का आरोप, भड़के लोग सुनाने लगे खरी-खोटी

अक्षय कुमार के विज्ञापन पर दहेज को बढ़ावा देने का आरोप, भड़के लोग सुनाने लगे खरी-खोटी
आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-

सड़क सुरक्षा अभियान को लेकर बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार के विज्ञापन को लेकर लोगों का गुस्सा फूटा है। दरअसल कारों में छह एयरबैग को बढ़ावा देने के सरकार के प्रयास के बीच केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने 9 सितंबर को सोशल मीडिया पर एक विज्ञापन का वीडियो पोस्ट किया था। जिसमें अक्षय कुमार पुलिस वाले बने हैं। यूजर्स का कहना है कि विज्ञापन दहेज की प्रथा को बढ़ावा दे रहा था, जो देश में एक दंडनीय अपराध है।

दरअसल विज्ञापन में दिखाया गया है कि लड़की का पिता उसकी विदाई पर दुखी है। लेकिन अक्षय कुमार नवविवाहित जोड़े को सिर्फ दो एयरबैग वाली कार में भेजने के लिए पिता पर कटाक्ष करते हैं। इस बात को लेकर शिव सेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी ने भी आपत्ति जताते हुए सरकार को घेरा है।

ये भी पढ़ें -: जेल से रिहा होने के बाद KRK का ट्वीट- मैं बदला लेने के लिए लौट आया हूं…

उन्होंने ट्विटर पर लिखा,” ये समस्या खड़ी करने वाला विज्ञापन है। ऐसे क्रिएटिव कौन पास करता है? क्या सरकार कार के सुरक्षा पहलू को बढ़ावा देने के लिए पैसा खर्च कर रही है या इस विज्ञापन के माध्यम से दहेज की बुराई और आपराधिक कृत्य को बढ़ावा दे रही है? दूसरी तरफ तृणमूल कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता साकेत गोखले ने कहा, ‘भारतीय सरकार को आधिकारिक तौर पर दहेज को बढ़ावा देते देखना घृणित है।

एक यूजर न इसपर टिप्पणी करते हुए लिखा,” ये विज्ञापन वो गड्ढे जैसा है, जिसने पूरी तरह से प्लॉट खो दिया है। ये दुल्हन और शादी में मिले दहेज की बात है या 6 एयरबैग वाली कार होनी चाहिए इसकी? ये सरकारी विज्ञापन इतने बचकाने और गलत कल्पना वाले कैसे हो सकते हैं। वे सुरक्षा के बारे में किसी अन्य तरीके से भी बात कर सकते थे।

ये भी पढ़ें -: आपस में भिड़े उद्धव ठाकरे और एकनाथ शिंदे के समर्थक, विधायक पर गोली चलाने के आरोप

बता दें कि टाटा ग्रुप के चेयरमैन रहे साइरस मिस्त्री की कार एक्सीडेंट में निधन के बाद ये विज्ञापन लॉन्च किया गया था। जिसे तमाम लोगों ने गलत बताया है।

गौरतलब है कि नितिन गडकरी ने राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा अभियान के माध्यम से जागरूकता फैलाने में समर्थन के लिए अक्षय कुमार को धन्यवाद भी दिया था। उन्होंने ट्विटर पर लिखा था,”हम जागरूकता और जनभागीदारी से भारत में सड़क दुर्घटनाओं को कम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

ये भी पढ़ें -: बिलकिस बानो केस पर शाजिया इल्मी के आर्टिकल पर भड़की VHP, पूछा- क्या यह BJP का रूख है?

ये भी पढ़ें -: गुलाम नबी आजाद बोले- आर्टिकल 370 ना मैं वापस दिला सकता हूं, ना कांग्रेस, ना पवार और ना ममता

ये भी पढ़ें -: ज्ञानवापी केस में वाराणसी कोर्ट के फैसले के खिलाफ ऊपरी अदालत जाएगा मुस्लिम पक्ष


आर्टिकल को शेयर ज़रूर करें :-